Table of Contents

scalping-trading-kya-hai-hindi

स्केलपिंग ट्रेडिंग: स्कैल्प कारोबार क्या है और यह कैसे काम करता है?

हिंदी

स्कैल्प ट्रेडिंग: छोटे सौदों से कैसे लाभ कमाएं

नए कारोबारी अक्सर आगे बढ़ने के लिए कारोबार शैली के बारे में भ्रमित होते हैं। यदि आपके पास भी ऐसी ही दुविधा है, तो आप सही जगह पर आए हैं। इससे पहले कि आप शेयर स्केलपिंग ट्रेडिंग बाजार नेविगेट शुरू करें, यह एक ऐसी कारोबार शैली है जो कि आपके व्यक्तित्व को सबसे बेहतर ढंग से सूट करेगी। एक तकनीक के बिना, आप भ्रमित हो जाएंगे और भारी नुकसान के साथ समाप्त कर सकते हैं। आपके द्वारा अपनाई गई शैली को आपके वित्तीय लक्ष्य, जोखिम सहिष्णुता, समय- जब आप बाजार का पालन करने के लिए दैनिक निवेश कर सकते हैं, और कई अन्य समान कारकों पर निर्भर होना चाहिए। तो,एक सूचित चुनाव करने के लिए आपको विभिन्न कारोबार तकनीकों के बारे में जानने चाहिए। इस लेख में, हम स्केलपिंग ट्रेडिंग शैली पर चर्चा करेंगे, जो लाभ कमाने के लिए दिन के दौरान कई छोटे सौदे बनाने के बारे में है। तो, पढ़ना जारी रखें।

निफ्टी और बैंक निफ्टी में सिस्टेमिक मोमेन्टम ट्रैडिंग और स्केलपिंग

Intermediate

By Shalom Martin

*inclusive of taxes

590 *inclusive of taxes

27-Jul-2022 at 05:00 PM (IST)

Duration: 2 hours

Total Users: 297

The goal of Momentum trading is to work with volatility by finding buying opportunities in short-term uptrends and then selling when the securities start to lose momentum. Skilled traders understand when to enter स्केलपिंग ट्रेडिंग into a position, and how long to hold it. This webinar will help the participants to gain benefits in Intraday trading using a systematic approach of using RSI in a well-structured manner and proper position sizing with the defined risk on each trade to get a profitable outcome.

Objective of the Webinar-

This webinar will help the participants to gain benefits in Intraday trading using a systematic approach of using RSI in a well-structured manner with an edge and proper position sizing with the defined risk on each trade to get a profitable outcome.

यह वेबिनार प्रतिभागियों को एक अच्छी तरह से संरचित तरीके से RSI का उपयोग करने की सिस्टेमिक अप्रोच का उपयोग करके इंट्राडे ट्रेडिंग में लाभ प्राप्त करने में मदद करेगा और एक फायदेमंद परिणाम पाने के लिए प्रत्येक ट्रेड पर परिभाषित रिस्क के साथ प्रोपर पोजीशन साइज़ देगा।

Speaker

Shalom Martin

Mr. Shalom Martin has pursued Macro-Masters in Entrepreneurship from IIM Bangalore, and a Specialisation in Brand Management from London Business School. Being a Certified Valuer and Investment Adviser, he is also a full-time stock market trader and trainer since 2014. He is also the Founder of Price Action Learning Academy. Till now, he has conducted more than 80 seminars across India on स्केलपिंग ट्रेडिंग various subjects related to the Capital Market and mentored more than 3500 students in the field of Fundamental Analysis, Technical Analysis, and Price Action Trading Techniques.

स्केलपिंग ट्रेडिंग करने के नियम | Scalping Trading स्केलपिंग ट्रेडिंग Strategy in Hindi

स्केलपिंग ट्रेडिंग करने के लिए आपको सबसे पहले एक ऐसी कंपनी का चुनाव करना है. जिसके शेयर में उतार–चढ़ाव (moment) काफी ज्यादा हो रहे हों. ताकि एक अच्छा प्रॉफिट बना सके.

जिस कंपनी का शेयर अपने चुना है, उस कंपनी को अपने ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर में Search कर लें. इसके बाद कंपनी का Chart Pattern खोलकर उसकी बीते दिनों की परफॉर्मेंस को देखें की उसके शेयर स्केलपिंग ट्रेडिंग की कीमत किस हिसाब से बढ़ती और घटती है. फिर आप फैसला (decide) कर सकते हैं की ट्रेडिंग करनी है या नहीं.

स्केलपिंग ट्रेडिंग के उदाहरण

मान लीजिए एक ABC कंपनी है जिसका शेयर 15 मिनट के time frame में ₹1 रूपए से ₹2.50 रुपए के बीच में ऊपर –नीचे हो रहा है. तो इसमें आप स्केलपिंग कर सकते कैसे चलिए जानते हैं

चलिए स्केलपिंग ट्रेडिंग को एक उदाहरण से समझते हैं

सबसे पहले अपने ट्रेडिंग अकाउंट पर जाए यानी trading app को open करे फिर ABC कंपनी का शेयर search करे और आप जितना शेयर खरीदना चाहते है. अपने capital के अनुसार खरीद लें.

अब मान लीजिए जो आपने कंपनी का शेयर खरीदा है. उसका मार्केट प्राइस ₹120 रुपए प्रति शेयर के कीमत से खरीदा है

शेयर खरीदने के बाद आपको सबसे पहले ₹118.50 का स्टॉप लॉस (stop loss) लगा देना हैं, जिससे कि मार्केट आपके पक्ष (upward) में ना जाए तो आपको भारी loss का सामना ना करना पड़े.

इतना कुछ करने के बाद अब आपको अपना target लगाना है. टारगेट आपको ₹122.50 प्रति शेयर के हिसाब से लगाना है. जैसे ही शेयर की प्राइस टारगेट वैल्यू (target value) को हिट करती स्केलपिंग ट्रेडिंग है. आपको प्रॉफिट बुक कर लेना है. और आपका प्रॉफिट आपके खाते में आ जाएगा.

FAQ’s

Q. स्केलपर्स एक दिन में कितने ट्रेड करते हैं?

Ans. एक अच्छा मुनाफा कमाने के लिए इसमें काम से काम 5 से 6 ट्रेड लेना पड़ेगा.

Q. क्या स्केलपिंग ट्रेडिंग शुरुआती लोगों के लिए अच्छी है?

Ans. स्केलपिंग करने के लिए आपको शेयर मार्केट के प्रति बेहद अनुभवी होना अनिवार्य है.

Q. ट्रेडिंग में स्केलपिंग ट्रेडिंग का क्या मतलब है?

Ans. स्केलपिंग ट्रेडिंग में 10 से 15 प्वाइंट का मूमेंट होने पर position को तुरंत squareOff कर देना होता है. इसी को Scalping Trading कहते हैं.

रेटिंग: 4.60
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 279